Big Breaking

सुपर साइक्लोन ‘अम्फान’ की वजह से केन्द्र सरकार और कई राज्य सरकारों की नींद उड़ी हुई है। साइक्लोन के खतरे के देखते हुए उन राज्यों के मुख्यमंत्री पूरी तरह एक्टिव मोड में हैं जो राज्य इसकी जद में आ सकता है। खबर तो यह भी है पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सो नहीं सकी हैं। सुपर साइक्लोन अम्फान पश्चिम बंगाल के तटीय इलाके के करीब पहुंच गया है. कल देर रात इस तबाही ने बंगाल की खाड़ी के दक्षिण और मध्य हिस्से को पार कर लिया. आज दोपहर यह सुपर साइक्लोन बंगाल और बांग्लादेश के बीच समुद्र तट से टकरायेगा. लगभग 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ये तूफान समुद्र तट से टकरायेगा जिसके बाद 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवायें चल सकती हैं।

कल देर शाम से ही बंगाल और उडीसा के कई हिस्सों में तेज आंधी के साथ बारिश शुरू हो गयी है. सुपर साइक्लोन से तबाही को रोकने के लिए कल पूरी रात केंद्र और राज्य सरकार लगी रही. मौसम विभाग ने कहा है कि अम्फान का असर पश्चिम बंगाल और ओडिशा के साथ साथ सिक्किम और मेघालय पर भी पड़ सकता है. इससे पहले मंगलवार की देर शाम से ही बंगाल की खाड़ी में बने 2020 के पहले सुपर साइक्लोन अम्फान का प्रभाव पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय जिलों के साथ-साथ भुवनेश्वर में दिखने लगा. बंगाल और ओडिशा के कई इलाकों में कल शाम से ही तेज आंधी के साथ साथ बारिश हो रही है.